बच्चों को भिन्न अंक सिखाने के 3 आसान तरीके

अधिकांश अभिभावक इस बात से सहमत होंगे कि बच्चों को गणित के भिन्न अंकों (fractions) को समझने में सबसे अधिक कठिनाई होती है। यद्यपि भिन्न अंक पाठ्यक्रम में कक्षा 4 से ही शुरू हो जाते है, परन्तु अधिकांश बच्चे 12वीं कक्षा तक भी भिन्न अंकों में सहज नहीं हो पाते। ज़्यादातर बच्चे भिन्नों के जोड़ घटाव या भाग जैसी चीज़ें जल्दी बताने में खुद को असमर्थ महसूस करते हैं और वे विभिन्न प्रकार के तरीकों का रट्टा शुरू कर देते हैं। रटने से कभी भी दीर्घकालिक सहायता नहीं मिलती और यदि रट्टा मारने में जरा सी भी गलती हुई, तो बच्चों का पूरा जवाब गलत हो सकता है।

जीवनपर्यन्त, बच्चों का समय समय पर भिन्न अंकों से आमना सामना होता रहेगा, फ़िर चाहे वह कॉलेज की शिक्षा के दौरान हो या किसी योग्यता परीक्षा को देते समय। भिन्न अंक हमारे दैनिक जीवन में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से उपस्थित रहते हैं। इसलिए यह अत्यंत आवश्यक है कि बच्चों में भिन्न अंकों के साथ सटीक गणना करने की काबिलियत बढे और वे तेज़ी से ऐसी गणनाएं कर सके।

इस लेख में, हम आपको 3 तरीके बताने जा रहे हैं जिससे आप अपने बच्चे में भिन्नों के बारे में वैचारिक स्पष्टता ला सकते हैं:

  • भिन्न अंकों को दृष्टिगोचर बनाएं:
    image blog 7 (2)

ज़्यादातर बच्चे भिन्नों के साथ संघर्ष इसलिए करते हैं क्योंकि वे इन संख्याओं के भौतिक महत्व को नहीं समझ पाते। ½ और ⅔ को जोड़ने के नियमों का कोई मतलब नहीं बनता अगर हम इसके पीछे के तर्क को न समझें। बच्चों को अकादमिक नियमों से ½ और ⅔ के जोड़ का नियम सिखाने की जगह, उन्हें उनके दैनिक जीवन की साधारण वस्तुओं के उपयोग से भिन्न अंकों की धारणा समझाएं।

उदाहरण के लिए, आप चार्ट पेपर और स्केच पेन से चित्र में दिखाए गए आयत बना सकते हैं। दो भिन्नों को दर्शाने के लिए इन पट्टियों पर विभाजन अंकित करें। इससे बच्चों को भिन्नों का अर्थ समझने में आसानी होगी और वे भिन्नों के जोड़ का अर्थ भी समझ पाएंगे। आप विभिन्न प्रकार के भिन्नों को दर्शाने के लिए घरेलू वस्तुएं जैसे की ब्रेड के स्लाइस या रोटी का भी उपयोग कर सकते हैं।

इंटरनेट पर बहुत सारे ऑनलाइन सिम्युलेटर भी उपलब्ध हैं जिससे बच्चे भिन्नों को अधिक दृष्टिगोचर तरीके से समझ पाएंगे।

उदाहरण के लिए, Math Playground’s Fraction bars एक सरल ऑनलाइन सिम्युलेटर है जो रंगीन आयताकार पट्टियों का उपयोग कर के बच्चे को भिन्नों की कल्पना करने में सहायता करता है। बच्चे आसानी से स्लाइडर को स्थानांतरित कर सकते हैं और देख सकते हैं कि कैसे अंश का मान उसके अंश-गणक (न्यूमैरेटर) और हर (डिनोमिनेटर) में परिवर्तन के साथ बढ़ता या घटता है।

  • सरल DIY (डू इट योरसेल्फ) गेम बनाएं:
    Blog 7_Fraction spinner game

आप अपने बच्चे के सीखने की प्रक्रिया को और संवादात्मक बनाने के लिए घर पर कुछ सरल खेल भी बना सकते हैं।

उदाहरण के लिए, आप एक ‘फ्रैक्शन स्पिनर’ गेम बना सकते हैं। एक कोरे कागज पर समान संख्या में विभाजनों के साथ एक पाई-चार्ट बनाएं। साधारणतः इसमें आपको 16 भाग बनाने चाहिए। अब प्रत्येक पाई में दिखाए गए चित्र के अनुसार एक अंश लिखें। एक पेपर क्लिप और एक पेंसिल लें और कागज पर पेंसिल के सपाट सिरे को रखें और उस पर क्लिप फंसा लें। अब पेपर क्लिप को अपने अंगूठे और तर्जनी से इस तरह से मारें कि पेपर क्लिप पेंसिल के चारों ओर घूम जाए। जब यह रुक जाता है, तो क्लिप एक निश्चित पाई को इंगित करेगा, जिसमें एक निश्चित अंश का उल्लेख किया गया होगा। आप एक कार्यों की सूची बना सकते हैं जो आपके बच्चे को इंगित किए गए अंश के आधार पर करना है।

कुछ उदाहरण इस प्रकार हैं:

  1. अगर भिन्न को पूर्ण संख्या में बदला जा सकता है तो खड़े हो जाइए
  2. यदि भिन्न का मान 1 से अधिक है तो ताली बजाएं

इस प्रकार के मजेदार और संवादात्मक खेल भिन्नों की अवधारणा को समझने में मदद करेंगे।

  • वर्कशीट का एक सेट बनाएं:

भिन्न अंकों की गणना में प्रभावशाली बनने के लिए नित्य अभ्यास अत्यंत आवश्यक है। वर्कशीट या प्रश्नावली को हल करना नित्य अभ्यास का एक प्रभावी तरीका है। इससे आपके बच्चे के लिए भिन्नों के प्रश्नों को हल करना अत्यंत सहज हो जायेगा।

उदाहरण के लिए, आप इन वर्कशीटों को उनकी पाठ्यपुस्तक के आधार पर बना सकते हैं या ऐसी बनी-बनाई वर्कशीटों को इंटरनेट पर भी ढूंढ सकते हैं। यह महत्वपूर्ण है कि आपका बच्चा विभिन्न प्रकार की क्रियाओं का अभ्यास करे जैसे भिन्नों को सरल प्रारूपों में परिवर्तित करना, भिन्नों के दशमलव मानों को खोजना, जोड़ना, घटाना, गुणा और भाग करना ताकि इस विषय की ठोस समझ उसमें विकसित हो सके।

हमें उम्मीद है कि इस लेख में हमने जो तरीके साझा किये हैं, वे आपको अपने बच्चे के लिए भिन्न अंकों को आसान और मजेदार बनाने में मदद करेंगे। याद रखें कि अपने बच्चे को किसी भी विषय में प्रवीण बनाने में जल्दबाजी न करें। गणित की मूल अवधारणाओं को पूरी तरह से समझने के लिए बच्चों को उनके अनुसार समय दें। यही एकमात्र तरीका है जिससे आप भविष्य के लिए एक ठोस नींव बनाने में उनकी मदद कर सकते हैं।

वर्तमान महामारी बच्चों की शिक्षा के लिए बहुत बड़ी चुनौती बन कर उभरी है, और इस का सामना करने के लिए LEAD आपकी मदद के लिए आगे आया है। LEAD ने स्कूली पाठ्यक्रम को समझने में आसान बना दिया है, यहाँ तक कि माता-पिता भी अपने बच्चे की पढ़ाई की यात्रा का हिस्सा बन सकते हैं। LEAD Student App की मदद से, छात्र प्रतिदिन लाइव कक्षाओं में भाग ले सकते हैं, प्रश्नोत्तरी का प्रयास कर सकते हैं, रियल-टाइम में शंकाओं के बारे में पूछ सकते हैं। डिजिटल लर्निंग कंटेंट, फिजिकल रीडर और वर्क बुक, लर्निंग एक्टिविटीज, ई-बुक्स, नियमित मूल्यांकन, पर्सनलाइज्ड रिवीजन, गृह अभ्यास, शंकाओं का स्पष्टीकरण और राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं इत्यादि LEAD की अन्य अनूठी विशेषताएं हैं।

About the author

Akhilash Kumar

More from this author

बच्चों को भिन्न अंक सिखाने के 3 आसान तरीके

अधिकांश अभिभावक इस बात से सहमत होंगे कि बच्चों को गणित के भिन्न अंकों (fractions) को

Know More

How school management system succeeded in busting myths around online learning?

“New Normal” is a word that’s buzzing across the world; however, the meaning varies for different businesses. For the education sector, the new normal is learning from home,

Know More

How online teaching apps changed the sector for good?

The global populace did not know any other way to school except brick and mortar. Teachers were hired based on their degrees, and children’s

Know More

Save time and keep an error-free record with attendance management for schools

What’s the one thing that became chaotic post-school closures besides the noticeable impact on student learning? It was managing the school’s various

Know More

Admissions Open

Find a LEAD powered school for your child

whatsapp