Home »  Blog » Parents »  अभिभावक-शिक्षक के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान का बेहतर होना क्यों महत्वपूर्ण है?

अभिभावक-शिक्षक के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान का बेहतर होना क्यों महत्वपूर्ण है?

चूंकि, माता-पिता और शिक्षक का एक ही लक्ष्य होता है, बच्चे की सफलता। माता-पिता, शिक्षक और बच्चे की साझेदारी स्कूली प्रक्रिया को समृद्ध और प्रभावी बनाती है।

यूनेस्को के अनुसार, “माता-पिता अपने बच्चों के पहले शिक्षक होते हैं”। उनका सहयोग बच्चे की पढ़ाई और विकास को प्रभावित करता है।

एक सफल अभिभावक के सहयोग के लिए, आपको शिक्षकों के साथ निरंतर बातचीत करने की आवश्यकता होती है। चूंकि बच्चे की शिक्षा और सम्पूर्ण विकास महत्वपूर्ण है, तो ऐसे में एक मजबूत साझेदारी के अलावा कुछ भी मायने नहीं रखता है। माता-पिता और शिक्षक दोनों अपने अवरोधों को दूर करते हैं और एक साझा लक्ष्य की दिशा में काम करने के लिए तैयार रहते हैं। एक नये शिक्षा प्रणाली को अपनाने के साथ-साथ आप आसानी से शिक्षकों के साथ बातचीत कर सकते हैं। एनईपी 2020 को धन्यवाद, जल्द ही एडटेक व्यवसाय के तेजी से बढ़ने की उम्मीद है, जो एक मजबूत शिक्षा प्रणाली का मार्ग प्रशस्त करता है और अधिक डिजिटल संचार तंत्र प्रदान करता है।

पारंपरिक स्कूली शिक्षा की तरह यहां आपको अपने बच्चे की प्रगति जानने के लिए अभिभावक-शिक्षक बैठक की प्रतीक्षा करने की आवश्यकता नहीं है। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के द्वारा शिक्षक मिनटों में माता-पिता को अपडेट दे सकते हैं। आप अपने बच्चे के परीक्षा में प्रदर्शन, मूल्यांकन और क्रियाकलापों के बारे में शिक्षक से तुरंत प्रतिक्रिया प्राप्त कर सकते हैं। ऑनलाइन लर्निंग मॉडल अभिभावक-शिक्षक के निरंतर बातचीत को सुनिश्चित करता है।

LEAD बच्चों को जीवन की परीक्षा के लिए तैयार होने में मदद कर भारत की शिक्षा प्रणाली को बदल रहा है।LEAD संचालित स्कूल में अपने बच्चे के नामांकन के लिए यहाँ क्लिक करें

ऑनलाइन पढ़ाई सुगम संचार को सुनिश्चित करता है

पारंपरिक स्कूली शिक्षा में संचार के पुराने तरीके बाधा के समान थे। आप केवल पीटीएम या कार्यक्रमों के दौरान ही शिक्षकों के साथ संवाद कर सकते थे। माता-पिता तक प्रतिक्रिया पहुंचाने के प्रति शिक्षक भी सक्रिय नहीं थे। हालांकि, शिक्षा के क्षेत्र में एलएमएस के आगमन के साथ यह स्थिति बदल गई, क्योंकि शिक्षक अब छात्रों के प्रदर्शन या प्रगति के बारे में लगातार माता-पिता को अपडेट दे सकते हैं।

ऑनलाइन पोर्टल माता-पिता के लिए सूचना का एक ऐसा स्रोत है, जिससे वे अपने बच्चे के प्रदर्शन की जानकरी प्राप्त कर सकते हैं और शिक्षकों के साथ बात कर सकते हैं।

सभी पक्षों के बीच स्पष्टता को सुनिश्चित करने के लिए सत्र की शुरुआत में शिक्षकों और अभिभावकों को आपस में अपेक्षित संवाद करना चाहिए। आपसी संबंध को मजबूत बनाने के लिए दोनों को एक-दूसरे के प्रति संवेदना दिखानी चाहिए। संचार के द्वारा निरंतर बातचीत भी संभव है।

ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म और तकनीक का सदुपयोग दो-तरफ़ा संचार को सक्षम बनाती है। पारंपरिक तरीकों की तरह यहां आपको अपने बच्चे की प्रगति जानने के लिए हमेशा बैठकों में भाग लेने या कार्यक्रमों में शामिल होने की आवश्यकता नहीं होती है। यहाँ कुछ इंटरनेट के उपयोग साधन दिए गए हैं, जो अभिभावक-शिक्षक संवाद को सुगम बनाने में मदद करते हैं-

  • ईमेल
  • ऑनलाइन चैट सहयोग
  • परिचर्चा मंच
  • ऐप संदेश

शिक्षक और अभिभावक के बीच संवाद की आवश्यकता क्यों है?

इस बात में कोई शंका नहीं है कि माता-पिता अपने बच्चे के चरित्र को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आप स्कूल गतिविधियों में सक्रिय रूप से भाग लेकर अपने बच्चे की शिक्षा यात्रा में मदद कर सकते हैं। अब, यही वह स्थान है जहाँ अभिभावक-शिक्षक संवाद  की भूमिका अहम हो जाती है।

शिक्षा में संचार के महत्व पर कुछ आवश्यक मुख्य बिंदु-

  • कोई बच्चा उच्च शैक्षणिक उत्कृष्टता स्तर को तभी प्राप्त कर सकता है जब उसे परिवार और स्कूल का पूरा समर्थन मिले। शिक्षक का माता-पिता के संपर्क में होना बच्चे की सफलता के लिए सर्वोपरि है। शिक्षक से प्रतिक्रिया प्राप्त करने से आपको अपने बच्चे के कमजोर क्षेत्रों को समझने और उसमें सुधार लाने में मदद मिलेगी।
  • परस्पर संवाद पढ़ाई सत्र के दौरान सकारात्मक वातावरण बनाए रखता है।
  • माता-पिता और शिक्षकों के बीच सकारात्मक संबंध छात्रों के अपने शिक्षकों पर पूर्ण विश्वास को सुनिश्चित करता है और अपने विकास के लिए दोनों पक्षों द्वारा किये जा रहे मेहनत को देखकर छात्र अपने शैक्षणिक लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए अधिक लगन से पढ़ाई करते हैं।
  • इससे शिक्षकों को अपने छात्र से संबंधित किसी भी मुद्दे पर उनके माता-पिता के साथ संवाद करने में आसानी होती है। छात्र अपनी कमियों के बारे में शिक्षकों और अभिभावकों को पता चल जाने की चिंता करने से भी बच जाते हैं।

नेब्रास्का-लिंकन विश्वविद्यालय द्वारा अभिभावक-शिक्षक संबंध में अनुरूपता रिपोर्ट के अनुसार “माता-पिता की भागीदारी एक बहुआयामी निर्माता बनकर शिक्षकों को दिखने वाले (जैसे कि सम्मेलनों में भाग लेना, स्कूल में स्वयंसेवा करना) और तत्काल नहीं दिखने वाले (जैसे कि घर में पढ़ाई में सहयोग) कार्यों सहित बच्चों को पढ़ाई में मदद करने वाले अभिभावक के व्यवहार को समझना है।“

अभिभावक-शिक्षक संवाद को सुनिश्चित करने के लिए LEAD क्या करता है?

WhatsApp Image 2021-04-29 at 10.17.22 AMLEAD हर बच्चे की पढ़ाई करने के अनुभव में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने के लिए काम करता है। LEAD बच्चे की पढ़ाई के सफर में शामिल प्रत्येक हितधारक को उच्च गुणवत्ता वाला एंड-टू-एंड समाधान प्रदान करता है। LEAD के पास माता-पिता के लिए एक समर्पित ऐप है जो उन्हें सक्रिय भागीदारी निभाने में सक्षम बनाता है।

समेकित प्लेटफॉर्म यह सुनिश्चित करता है कि शिक्षक बच्चे की शिक्षा के बारे में उनके माता-पिता को तत्काल जानकारी प्रदान कर सकें। माता-पिता अपने बच्चे के प्रदर्शन को जानने के लिए ऐप देख सकते हैं। समयबद्ध निगरानी शिक्षकों को समस्या की पहचान करने में सक्षम बनाती है और समान रूप से माता-पिता को समस्या को सुलझाने में मदद भी करती है।

ऐप पर सभी सामग्रियों की उपलब्धता माता-पिता की भागीदारी को बढ़ाती है। पढ़ाई की प्रक्रिया में सहज पहुंच और तकनीक का उपयोग, माता-पिता और शिक्षकों के बीच बेहतर सहभागिता को सुनिश्चित करती है।

LEAD बच्चों को जीवन की परीक्षा के लिए तैयार होने में मदद कर भारत की शिक्षा प्रणाली को बदल रहा है।LEAD संचालित स्कूल में अपने बच्चे के नामांकन के लिए यहाँ क्लिक करें

About the author

Manjiri Shete

A journey towards making your school 100% complete

How the definition of a complete school changed post the lockdown?

Read More

23/09/2020 
Manjiri Shete  |  Parents

How online education boosts Parent-teacher relationship?

How parenting has evolved over the last couple of decades

Read More

23/09/2020 
Manjiri Shete  |  Parents

How to stay energised & connected during online teaching?

Teachers often catch their students staring into space in the middle of a class. Just when they think they have devised a well-structured lesson plan, they may find their students distracted and out t

Read More

28/09/2020 
Manjiri Shete  |  Teachers

Why do we need to look beyond a basic School ERP System?

Today, deploying an ERP solution across schools has become an inevitable part of the school functioning where a systemic framework handles all the aspects of its processes. It is built to meet the div

Read More

9/10/2020 
Manjiri Shete  |  School Owner

x

Give Your School The Lead Advantage

lead
x
Planning to reopen
your school?
Chat With Us Enquire Now
whatsapp
x

Give Your School The Lead Advantage

x

Download the EBook

x

Download the NEP
Ebook

x

Send us your queries

x

Give Your School The Lead Advantage